मध्यप्रदेश— 487 प्रदूषण जांच केंद्रों में से 50 के लाइसेंस निलंबित

भोपाल। विवादों में घिरे प्रदेश के प्रदूषण जांच केंद्रों की जांच प्रारंभ हो गई है। राज्य के परिवहन विभाग द्वारा यह जांच की जा रही है। प्रदेश के 487 प्रदूषण जांच केंद्रों का परिवहन विभाग ने निरीक्षण किया। जिसमें 61 केंद्रों पर अनियमिताएं मिली, जिसमें 50 के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए, जबकि 11 के लाइसेंस निरस्त किए गए हैं। ये विभाग के नोटिस का संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए थे।

प्रदेश में वाहनों के प्रदूषण की जांच के लिए 487 केंद्र संचालित हैं। एनजीटी ने इनकी जांच के आदेश दिए थे। साथ ही विभाग के पास भी इनकी अनियमितता की शिकायतें आ रही थी, इसके चलते परिवहन आयुक्त ने प्रदेश के सभी आरटीओ को निर्देशित किया कि केंद्रों की जांच की जाए। इसके बाद क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, जिला परिवहन अधिकारियों ने अलग-अलग टीमें बनाई और केंद्रों की जांच शुरू की। 61 केंद्रों पर पुरानी मशीनें मिली और लाइसेंस को रिन्यूवल नहीं कराया था। मशीन कहां से खरीदी गई, उसके दस्तावेज भी पेश नहीं कर पाए। 61 केंद्रों पर की जा रही जांच मानकों पर खरी नहीं उतर रही थीं। 11 केंद्र संचालक विभाग के नोटिस का जवाब नहीं दे पाए, इसलिए लाइसेंस निलंबित कर दिए। 50 के लाइसेंस निलंबित है। इन्हें जवाब पेश करने के लिए समय दिया है।

 

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.