मध्यप्रदेश— आधी रात को घर में घुसकर कोरोना संक्रमित युवती से ज्यादती

इंदौर। मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमित महिलाएं और स्वास्थ्यकर्मी भी दरिंदों से सुरक्षित नहीं हैं। अभी तक ऐसी घटनाएं अस्पतालों में ही घटित हो रही थीं, लेकिन यहां होम क्वारंटीन संक्रमित युवती के घर में आधी रात को घुसकर सामूहिक बलात्कार का दिल दहला देनेवाला मामला सामने आया है। घर में घुसे तीन बदमाश 50 हजार नकद और दो मोबाइल भी ले गए। कमजोरी के चलते महिला विरोध भी नहीं कर पाई। इस मामले में पुलिस ने शनिवार को सीसीटीवी की मदद से तीन आरोपियों में दो को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि एक अभी भी फरार है। गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपी नाबालिग हैं।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि कोरोना संक्रमित होने के बाद वह अपने घर में अकेली रह रही थी। गुरुवार रात 2 बजे उसकी नींद खुली, तो तीन लोग उसके पलंग के पास खड़े थे। बदमाशों ने चाकू, कटर और कैंची दिखाते हुए पैसों और गहनों की मांग की। युवती ने उन्हें 50 हजार रुपये और दो मोबाइल दे दिए। इसके बाद तीनों ने युवती के साथ गैंगरेप किया। कोरोना से कमजोरी के कारण युवती उनका विरोध नहीं कर पाई। पीड़िता ने बताया कि उनके हाथ में चाकू और कैंची होने के चलते हत्या के डर से मैं शोर भी नहीं मचा पाई। पीड़िता ने बताया कि घटना के बाद भी एक बदमाश सुबह 5 बजे तक उसके घर के बाहर पहरा देता रहा ताकि महिला पुलिस के पास न जा सके। सुबह उजाला होने के बाद भाग निकला।

इंदौर के लसूड़िया थाना क्षेत्र के पंचवटी कॉलोनी में रहने वाली 37 वर्षीय युवती के घर में गुरुवार देर रात घुसे बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया। घटना की जानकारी शुक्रवार सुबह डायल 100 को मिली। इसके बाद पुलिस टीम ने युवती का मेडिकल करवाया। युवती के बयान के आधार पर तीन अज्ञात आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के जरिये बदमाशों की पहचान की। इसके बाद पुलिस ने आरोपियों को ढूंढने में मुखबिरों की भी मदद ली। इसके बाद दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है ,जोकि नाबालिग हैं। दोनाें ने जुर्म कबूल कर लिया है। आरोपियों में से एक की पहचान दीपक के तौर पर हुई है, जो युवती के पड़ोस में रहता था। उसने युवती को अकेला देखकर यह योजना बनाई थी। दीपक अभी फरार है। दीपक पर 20 हजार का पहले से ही इनाम है। 2 महीने पहले ही जेल से छूटा था।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.