मुख्यमंत्री के अनुरोध का असर, प्रतीकात्मक मन रहा होली का त्यौहार

भोपाल। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए नागरिकों से होली का त्यौहार घर पर ही मनाने का अनुरोध किया था। उन्होने कहा था कि इस बार हमारा संकल्प ‘मेरी होली-मेरे घर’ है। सिर्फ पारिवारिक स्तर पर त्यौहार मनाएँ। इसका व्यापक असर लगभग सभी स्थानों पर दिखाई दे रहा है। रविवार की रात अधिकांश स्थानों पर होली दहन प्रतीकात्मक ही रही। आज सोमवार को भी लोग घर से निकलकर सामूहिक रूप से होली मनाने के स्थान पर अपने घर पर ही होती मना रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा था कि हम प्रतिवर्ष पूरे त्यौहार उल्लास के साथ मनाते हैं। इस समय मानवता के समक्ष कोरोना का संकट विद्यमान है। बीता एक वर्ष बहुत कठिनाइयों से भरा रहा। हम सुखद स्थिति में आ रहे थे। लेकिन कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने फिर चिंताएँ बढ़ा दी हैं। ज्यादा संख्या में एक स्थान पर लोगों के एकत्र होने से कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ जायेगा। इस खतरे को बढ़ाने का अनुचित कार्य हम न करें। यह सभी की सुरक्षा के लिए आवश्यक है कि त्यौहार सादगी से मनाएं। कही भी भीड़-भाड़ नहीं हो, इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए। खुद की, समाज की, राज्य की और देश की सुरक्षा हमारा कर्तव्य है।

प्रदेशभर से मिल रही सूचनाए बताती हैं कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के अनुरोध ने जनता को प्रभावित किया है। स्थान— स्थान पर इसकी चर्चा हो रही है और लोग इसका हवाला देकर अपने— अपने घरों में पारिवारिक स्तर पर ही होली मना रहे हैं।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.