कड़ाके की ठंड का भारतीय मौसम विज्ञान केंद्र ने जताया पूर्वानुमान

भोपाल। भीषण गर्मी और उमस का सामना कर रहे प्रदेश को बीती दो रातों से कुछ राहत मिलने लगी है। सर्दी के मौसम की शुरुआत हो चुकी है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि इस बार कड़ाके की ठंड पड़ेगी, जोकि लंबी खिंचेगी। उत्तर भारत में शीत लहर चलने का भी अनुमान है।

भारत में मौसम के रुख को तय करने में ला नीना और एल नीनो प्रभाव का काफी अहम रोल है। ला नीना के कारण इस बार अधिक ठंड पड़ने की उम्मीद है। ला नीना एक प्रक्रिया है, जिसके तहत समुद्र में पानी ठंडा होना शुरू हो जाता है। समुद्री पानी पहले से ही ठंडा होता है, लेकिन इसके कारण उसमें ठंडक बढ़ती है, जिसका असर हवाओं पर पड़ता है। एल नीनो में इसके विपरीत होता है। दोनों ही क्रियाओं का असर सीधे तौर पर भारत के मानसून और सर्दी के मौसम पर पड़ता है

Get real time updates directly on you device, subscribe now.