गुजरात— दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम मोटेरा अब नरेंद्र मोदी के नाम पर

अहमदाबाद। गुजरात के अहमदाबाद में बने दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर ‘नरेंद्र मोदी स्टेडियम’ कर दिया गया है। इससे पहले इसे सरदार पटेल क्रिकेट स्टेडियम (मोटेरा) के नाम से जाना जाता था। आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस स्टेडियम का औपचारिक रूप से उद्घाटन किया, जिसमें यह खुलासा हुआ।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने गुजरात दौरे के दौरान यहां पहुंचकर इसका उद्घाटन किया। इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे। अहमदाबाद में साबरमती नदी के किनारे बने इस नवनिर्मित स्टेडियम में दर्शकों के बैठने की क्षमता एक लाख 10 हजार हो गई है। इसके साथ ही यह स्टेडियम मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड को पीछे छोड़ते हुए दर्शक क्षमता के लिहाज से दुनिया का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम बन गया है। 

 इससे पहले राष्ट्रपति कोविंद ने बुधवार को स्टेडियम पहुंचे। यहां उन्होंने अपनी पत्नी के साथ नवनिर्मित सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एन्क्लेव का भूमि पूजन किया। इस दौरान वहां गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय खेल राज्य मंत्री श्री किरेन रिजिजू, गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल समेत कई अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे। 

यह स्टेडियम 63 एकड़ में फैला है। इस स्टेडियम में 1,10,000 दर्शकों के बैठने की क्षमता है, जो मेलबर्न क्रिकेट मैदान से भी अधिक है। जीसीए स्टेडियम में होने वाले अगले दो टेस्ट मैचों के लिए करीब 55,000 टिकटों को बेचने के लिए रखा गया। यहां हाल ही में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के नाकआउट दौर के मुकाबले भी आयोजित किए गए थे।

इस ग्राउंड पर 2014 के बाद पहला मैच खेला जाएगा। आज भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट मैच भी खेला जाएगा। यह मुकाबला डे-नाइट होगा जो गुलाबी गेंद से खेला जाएगा। ड्रोन कैमरा के साथ लगभग 30 हाई-टेक कैमरों से मैच का सीधा प्रसारण किया जाएगा। उसके लिए पूरी तैयारी कर ली गई है। विभिन्न कैमरे जैसे कि मुख्य कैमरा, स्ट्राइक जोन कैमरा, फील्ड कैमरा, रन आउट कैमरा, हॉक-आई कैमरा सभी क्षणों के रोमांच को कैद करने के लिए सुसज्जित हैं। 

इस स्टेडियम की विशेषताएं
—यह स्टेडियम 63 एकड़ में फैला है, जिसमें तीन एंट्री गेट्स हैं।
—विश्व के सबसे बड़े स्टेडियम में तीन प्रैक्टिस ग्राउंड्स, क्लब हाउस, ओलंपिक साइज स्विमिंग पूल और एक इनडोर क्रिकेट एकेडमी भी बनाई गई है।
—स्टेडियम का स्ट्रक्चर ऐसा है कि जब भी कोई खिलाड़ी बाउंड्री मारे तो स्टेडियम में बैठने वाला हर क्रिकेट प्रेमी उस बाउंड्री को देख पाए।
—यह दुनिया में एकमात्र स्टेडियम है, जिसमें अभ्यास और सेंटर पिच के लिए एक ही मिट्टी का इस्तेमाल किया गया है। यहां बेहतर दृश्यता और परछाई को दूर करने के लिए पूरी गोलाकर छत पर एलईडी लाइट लगी है।’
—दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में 11 सेंटर पिचें हैं, यह दुनिया में एकमात्र स्टेडियम हैं, जिसमें मुख्य मैदान पर 11 सेंटर पिचें हैं।
—यह दुनिया का पहला क्रिकेट स्टेडियम है जिसमें जिम सहित चार विश्वस्तरीय ड्रेसिंग रूम हैं।
—इसके अलावा 25 लोगों की क्षमता वाले 76 कॉर्पोरेट बॉक्स बनाए गए हैं।
—यहां मैदान में घास के नीचे रेत का इस्तेमाल किया गया है जिसकी मदद से भारी बारिश के बावजूद मैच कुछ ही घंटे में दोबारा से शुरू हो सकता है। 
—कार और स्कूटर की पार्किंग व्यवस्था की गई है। जिसमें 4 हजार कार और 10 हजार दो पहिया वाहन की पार्किंग की व्यवस्था है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.