रायसेन— अब बाड़ी में लोकायुक्त पुलिस ने वनकर्मी सुरेश व्यास को रिश्वत लेते रंगेहाथों पकडा

फर्नीचर लायसेंस के लिए तरुण शर्मा से वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के नाम पर ले रहे थे रिश्वत

—तुलसी धाकड
(बरेली कार्यालय)
बाडी/बरेली। रायसेन जिले में सभी विभागों में भ्रष्टाचार सरेआम चल रहा है। जिले के सभी लोग यह बात जानते हैं और अब लोकायुक्त की कार्यवाही भी इस बात की पुष्टि करने लगी है। भोपाल की लोकायुक्त पुलिस ने आज शनिवार को तरुण शर्मा की शिकायत पर सिंघौरी अभ्यारण्य में पदस्थ वनकर्मी सुरेश व्यास को वरिष्ठ अधिकारियों के नाम पर दो हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथों गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले रायसेन जिला पंचायत में संविदा आपरेटर को लोकायुक्त पुलिस पकड चुकी थी।

जनकारी के अनुसार तरुण शर्मा ने पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल को शिकायत की थी कि फर्नीचर की दुकान का लाइसेंस वन विभाग से प्राप्त करना है, जिसके लिए संपूर्ण दस्तावेजी प्रकिया पूरी की जा चुकी है। लायसेंस की फाइल ओबेदुल्लागंज में वन मंडल कार्यालय में सत्यापन के लिए लंबित है। सत्यापन अधीक्षक सिंघौरी अभ्यारण्य कार्यालय बाड़ी से होना है। सत्यापन के लिए वन रक्षक सुरेश कुमार व्यास द्वारा 10 हजार रू की रिश्वत अधीक्षक/एसडीओ को देने के नाम से मांगी जा रही है। पहली किश्त में 2 हजार रू की रिश्वत की मांग की गई है।

किया गया सत्यापन

तरुण शर्मा ने भोपाल लोकायुक्त पुलिस को पूरी जानकारी देते हुए कानूनी कार्यवाही का अनुरोध किया तो पुलिस अधीक्षक मनु व्यास ने शिकायत का सत्यापन निरीक्षक रजनी तिवारी से कराया। सत्यापन के दौरान शिकायत सही पाई गई। इसके बाद लोकायुक्त के दल, जिसमें डीएसपी योगेश कुर्चानिया, मुकेश सिंह, राजेंद्र पावन, मनमोहन साहू, विनोद मालवीय और अवध बाथवी शामिल थे, ने कार्यवाही को अंजाम करते हुए वन विभाग बाड़ी कार्यालय के सामने रिश्वत राशि की प्रथम किश्त 2 हजार रू लेते हुए सुरेश व्यास को रंगे हाथो पकड़ा।

बिछाया जाल
जानकारी के अनुसार लोकायुक्त के दल ने शुक्रवार को ही वनकर्मी सुरेश व्यास को रंगेहाथों पकडने के लिए जाल बिछा रखा था। बरेली निवासी व्यास की लगातार निगरानी की गई। बताया जाता है कि पहले बरेली में पकडने की योजना थी। बाद में तरुण शर्मा और वन रक्षक सुरेश व्यास की बातचीत के आधार पर अचानक योजना बदलकर बाडी में इस कार्यवाही को अंजाम दिया गया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.